Computer memory in hindi - कम्प्यूटर मैमोरी क्या है ?

Computer memory in hindi - कम्प्यूटर मैमोरी क्या है ?

Computer memory in hindi


 computer memory in hindi -जिस प्रकार हमारी सारी याददाश्त हमारे दिमाग में स्टोर रहती हैं ।

उसी प्रकार computer में कार्य करने के लिए डाटा को स्टोर करना जरूरी है ।

आज हम जानेंगे की कम्प्यूटर मैमोरी क्या है ? यह कितने प्रकार की होती है ? Computer memory in hindi

विषय सूची 

मैमोरी क्या है ?

Types of computer memory

RAM क्या है ?

ROM क्या है ?

मैगनेटिक टेप क्या होता है ?

Magnetic disk क्या है ?

Optical disk


मैमोरी क्या है ?( computer memory in hindi )

एक कम्प्यूटर की मैमोरी वह भाग है जहां पर कम्प्यूटर का सारा डाटा store होता है ।

कम्प्यूटर की मेमोरी डाटा तथा निर्देशन को स्टोर करती हैं , जिससे कंप्यूटर उन पर processing करता है ।

मैमोरी के बिना कोई भी कम्प्यूटर कार्य नहीं कर सकता । यह कम्प्यूटर का सबसे जरूरी भाग है।

कम्प्यूटर की मैमोरी से जरूरत पर उस डाटा को दुबारा प्राप्त किया जा सकता है।

Types of computer memory -

कम्प्यूटर मैमोरी दो प्रकार की होती हैं ( Computer memory in hindi )-

  • प्राथमिक मैमोरी (primary memory)
  • द्वितीयक मैमोरी (secondary memory )

Primary computer memory in hindi -

इस मैमोरी में डाटा को केवल processing के समय हो store किया जाता है। यह CPU में होती है।

यह computer की main memory है । यह secondary memory से बहुत तेज होती हैं ।

Primary memory अस्थाई मैमोरी होती है ।power off होने पर इसका सारा डाटा मिट जाता है।

secondary computer memory-

द्वितीयक मैमोरी एक स्थाई मैमोरी होती हैं । इसकी क्षमता primary memory से अधिक होती है ।

इस मैमोरी में कम्प्यूटर के डाटा , निर्देश तथा प्रोग्राम store रहते है ।

यह मैमोरी प्राथमिक मैमोरी की तुलना में धीमी होता है।

इस मैमोरी में जो डाटा store होता हैं , उसे वापस open किया जा सकता है । तथा उसे बदला भी जा सकता है।

Types of primary memory -

Magntic core memory -

इस मैमोरी का उपयोग तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर्स में होता था।

यह memory चुंबकीय छल्लो से बनी होती थी । तथा इसमें डाटा इस मैगनेटिक रिंग के movement के द्वारा store होता था।

इसमें डाटा storage स्थाई होता था । लेकिन इनकी आकार बड़ा होने के साथ इनकी गति भी कम होती थी ।

इस मैमोरी के कारण तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर्स की ऊर्जा खपत भी अधिक होती थी।

Semi-Conductor Memory -

वर्तमान समय में सभी कंप्यूटर्स में इसी memory का उपयोग हो रहा है । यह तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर्स में होने वाली मैगनेटिक मैमोरी से सस्ती और तेज होती है ।

ये मैमोरी आकार में छोटी होने के साथ ही इनकी storage capacity भी बहुत ज्यादा होती है।

लेकिन ये स्थाई नहीं होती है , इनमें पॉवर ऑफ होने पर डाटा मिट जाता है ।

RAM ( रैम ) -

Computer memory in hindi

इसका पूरा नाम Randam - Access - Memory है । यह memory बहुत तेज होती है ।

इसका काम computer में चल रहे डाटा , प्रोग्राम , या सूचना निर्देशो का संग्रहण करना है ।

ये मैमोरी एक अस्थाई memory है , विद्युत आपूर्ति बंद हो जाने पर इसमें डाटा नष्ट हो जाता है ।

RAM कई ट्रांजिस्टर तथा कैपेसिटर से मिलकर बनी होती है । ट्रांजिस्टर तथा कैपेसिटर से मैमोरी सेल बनता है , जिसमें डाटा स्टोर रहता है।

RAM दो प्रकार की होती है -

  • SRAM
  • DRAM

SRAM -

इसका पूरा नाम STATIC RAM ( स्टैटिक रैम ) होता है । यह आकार में बड़ी होती हैं । इसके ट्रांजिस्टर तथा कैपेसिटर एक से अधिक होते है ।

इस memory में चार्ज लीक की problem नहीं होता हैं इसलिए इसे बार -बार refresh नहीं करना पड़ता ।

DRAM -

DRAM का पूरा नाम Dynamic RAM है । इस memory की स्पीड Static RAM से कम होती है ।

इसे बार - बार refresh करने की जरूरत पड़ती है । इसलिए इसे चलायमान (dynamic ) memory बोलते हैं । यह आकार में भी छोटी होती हैं ।

ROM (रोम ) - 

ROM kya hai


इसका पूरा नाम Read Only Memory है । जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट है , इसमें जो डाटा होते है उन्हें बदला नहीं जा सकता है।Computer memory in hindi

computer के ऑपरेटिंग सिस्टम्स इसी में store होते हैं । यह एक स्थाई मैमोरी है।

ROM के चार प्रकार होते हैं -

  • PROM - marksed read only memory
  • MROM -programmeble read only memory
  • EPROM - earseable and programme le read only memory
  • EEPROM - electrically earseable and programme le read only memory

Types of secondary memory -

Magnetic tape -

Computer memory in hindi

इसका उपयोग एक साथ ज्यादा डाटा को स्टोर करने के लिए use होता है । इसकी storage capacity अधिक होती है ।

इसे हम ऑडियो टेप की तरह मान सकते है । जिस प्रकार ऑडियो टेप से आडियो दुबारा सुना जा सकता है , उसी प्रकार इसमें को डाटा होता हैं , इसे दुबारा load किया जा सकता है ।

अर्थात यह एक स्थाई मैमोरी है। इसमें डाटा magnetize bit के रूप में स्टोर होता है ।

Magnetic Disk -

Computer memory in hindi


यह भी एक secondary storage device है । यह magnetic material की परत से बनी हुई होती हैं ।

इसमें पुराने डाटा को मिटाकर नए डाटा को स्टोर किया का सकता है ।

इसकी storage capacity भी अधिक होती है । इसकी storage capacity इसमें मौजूद परतो की संख्या पर निर्भर करती है । Computer memory in hindi

यह डाटा को binary method में स्टोर करता है ।यह direct access method पर काम करती है , जिसके कारण इसकी डाटा ट्रांसफर स्पीड भी अधिक होती हैं।

मैगनेटिक डिस्क को तीन प्रकार वर्गीकरण किया जाता है -

  • Hard Disk
  • Floppy Disk
  • Zip Disk

Optical Disk -

यह एक प्रचलित storage device है । यह एक गोलाकार डिस्क होती है । इसमें डाटा डिजिटल रूप में स्टोर होता है ।

तथा उस डाटा को access करने के लिए लेजर बीम का उपयोग होता है । इसकी storage capacity भी अधिक होती है ।

Types of optical disk -

ये दो प्रकार की होती है (computer memory in hindi)-

CD तथा DVD

CD -

CD kya hai


इसका पूरा नाम compact disc है । इसमें three layer macenism होता है ।

जिसमें एल्युमिनियम , पोली कैबिनेट्स तथा एक्रिक्लिक की परत होती है । इसकी storage capacity कम होती है ।

इसमें 700 MB डाटा store हो सकता है ।

DVD -

DVD भी compact disk की तरह का ही होता है । दोनों में storage capacity का अंतर होता है ।

इसकी संग्रहण क्षमता GB में होती है ।





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां